शनिवार, मई 26, 2012

संवाद करो ( हाइकु )

क्षेत्र का राग 
अलापते अक्सर 
कैसे ये नेता ?

सबका गम 
महसूस करो तो 
अपना लगे ।

संवाद करो 
असहमति पर 
विवाद नहीं ।

****************

3 टिप्‍पणियां:

expression ने कहा…

बहुत खूब.........................

सादर

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') ने कहा…

सुंदर....

Rajesh Kumari ने कहा…

सुन्दर सार्थक हाइकु

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...