बुधवार, जुलाई 10, 2013

फलसफ़ा

यह सच है, करने से होता है बहुत कुछ मगर 
एक ही फलसफ़ा जिन्दगी में चलता कब है । 

*********
        
            

6 टिप्‍पणियां:

Rajput ने कहा…

बहुत उम्दा, लाजवाब !

Rohitas ghorela ने कहा…

अच्छा तो है के न दुनियां में दिल लगा
किया कीजे जो काम न बे-दिल्लगी चले।

पधारिये और बताईये  निशब्द

Alpana Verma ने कहा…

सही,वक्त के साथ कभी- कभी खुद को बदलने चाहिए.

Madan Mohan Saxena ने कहा…

वाह . बहुत उम्दा

दिगम्बर नासवा ने कहा…

बहुत ही उम्दा शेर ...

संजय भास्‍कर ने कहा…

बहुत सुंदर भाव

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...