रविवार, जुलाई 07, 2013

मैखाने चल

दिल के जख्मों का होता है वहीँ ईलाज
घर का रास्ता छोड़कर चल मैखाने चल

********

4 टिप्‍पणियां:

दिगम्बर नासवा ने कहा…

क्या बात है ... बहुत खूब ...

Kailash Sharma ने कहा…

बहुत खूब!

Anju (Anu) Chaudhary ने कहा…

बहुत खूब

Mahesh Barmate ने कहा…

bahut khoob :)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...