शुक्रवार, जुलाई 26, 2013

इश्क़

खुद को हारना इश्क़ की पहली शर्त थी मगर
हमने सीखा था, लड़ते रहो जब तक जीत न हो ।

**********

3 टिप्‍पणियां:

सुशील ने कहा…

अच्छा है !
इसीलिये तो शादियाँ हो जाती हैं !

Mahesh Barmate ने कहा…

बहुत खूब !

mark rai ने कहा…

behtarin najm........

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...